Yoga Aur Pranayam Karne se Phele Jane 20+ Important Rules Hindi Me.

आज yoga सिर्फ india में नहीं, बल्कि पूरे world भर में अपनी पहचान बना रहा है, India के yogasan के प्राचीन धरोहर का महत्व संपूर्ण world ने माना है और अपने आप को निरोगी ( healthy ) बनाए रखने के लिए yoga को अपनाया है.

yoga

दोस्तों ये yogasan और prayanam दिखने में जितने आसान हैं, हमारे स्वास्थ्य पर उतना ही महत्वपूर्ण योगदान होता है.

स्वास्थ्य संबंधित संपूर्ण लाभ के लिए yoga से बेहतर कुछ नहीं, योगा को करने के लिए बेहद महत्वपूर्ण है कि विशेष नियमों का पालन किया जाए, गलत तरीके से किया गया yogasan तकलीफ दे हो सकता है.

इसलिए आज हम आपको योग ( yoga ) और प्राणायम के कुछ विशेष नियम बता रहे हैं, जिसे अपनाना आपके लिए लाभदायक होगा.

ये पोस्ट भी पढ़े :

>> Lenovo K6 Power Review Features and Price in Hindi.

Yoga और Pranayam करने से पहले जाने ( 20+ विशेष नियम ).

# जब आप yoga करने के शुरुआती दौर में ही हैं, तो ध्यान रखें कि योगा विशेषज्ञ की देखरेख में हीं योगा करें और जब तक आप पूरी तरह प्रशिक्षित ना हो जाएं, अकेले yogasan ना करें.

# योगा से जुड़ा कोई भी प्रश्न अगर आपके मन में हो तो विशेषज्ञ से जरूर पूछें.

# योगा करने के लिए सबसे अच्छा समय सुबह – सबेरे का होता है, सूर्योदय के आधा घंटे पहले से लेकर सूर्योदय के 1 घंटे बाद तक का समय विशेष लाभ देने वाला होता है.

# जब भी आप yoga करने जाएं, तो आपका पेट पूरी तरह साफ होना चाहिए.

# नहाने से 20 मिनट पहले या नहाने के 20 मिनट बाद तक yoga नहीं करना चाहिए.

# पूरी तरह yoga का लाभ पढ़ने के लिए नियमित रूप से इसका अभ्यास करना जरुरी होता है, हफ्ते में सिर्फ एक या दो दिन योगा करने से इसका विशेष लाभ नहीं मिलता.

# yogasan करने के लिए हमेशा ऐसे जगह का चुनाव करें,जो स्वच्छ, हवादार, साफ-सुथरा और समतल जमीन हो.

# खाली जमीन पर yoga करने से बेहतर होता है, कि जमीन पर चटाई, योगा मैट या दरी इत्यादि जरूर बिछाना चाहिए.

# प्राणायाम और yoga खाली पेट हीं करना चाहिए.

# ध्यान रखें कि खाना खाने के 2 घंटे बाद हीं प्राणायाम और योगा किया जाना चाहिए, सिर्फ वज्रासन yoga हीं खाने के तुरंत बाद किया जा सकता है.

# योगासन करने के आधा घंटे के बाद हीं कुछ भी खाना या पीना चाहिए.

# yoga करने के दौरान शरीर के किसी भी तरह के वेग जैसे छींक आना, पेशाब इत्यादि को रोककर नहीं रखना चाहिए.

# जब भी आप yoga और प्राणायाम करने जाएं, तो ध्यान रखें कि पहले प्राणायाम करें और उसके बाद हीं yogasan करना चाहिए.

# दो अलग प्राणायम या योगासन के बीच 1 से 2 मिनट का फर्क रखें.

ये पोस्ट भी पढ़े :

>> Free PC Games Ko Ek Baar Jarur Khelna Chahiye [ Best 10 Games ].
>> Beauty Tips – Dry or Oily Skin Care Kaise Kare Jane Hindi Me.
>> Apne Skin Ko Soft Mulayam Kaise Banaye Jane Hindi Me.

# योगासन खत्म होने के बाद 5 मिनट तक शवासन जरूर करें.

# अगर आपको किसी तरह की कोई परेशानी है, या आप बीमार हैं, तो आपको yoga करने के लिए डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए.

# महिलाओं को पीरियड के दौरान yogasan और प्राणायम नहीं करना चाहिए.

# अगर कोई महिला गर्भावस्था में है, तो उन्हें योगासन विशेषज्ञ और डॉक्टर की सलाह पर हीं yoga करना चाहिए.

# yogasan करने के लिए मन और चित्त शांत और एकाग्र होना बेहद आवश्यक है.

# किसी भी तरह का योगासन करते समय अगर आपका जी मिचलाता है, सिर दर्द होता है, चक्कर आना या अन्य किसी तरह की परेशानी होती है, तो योग विशेषज्ञ या अपने डॉक्टर से सलाह लेना उचित होता है.

# शुरुआती दौर में ही अपेक्षा से अधिक योगासन नहीं करना चाहिए, धीरे-धीरे yoga की समयावधि को बढ़ाना उचित रहता है, नहीं तो अपेक्षा से अधिक योगासन करना हानिकारक हो सकता है.

मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए योग और प्राणायम बेहद हीं कारगर और उपयुक्त माध्यम होता है. इसलिए दोस्तों निरोगी काया के लिए योगा और प्राणायम का सहारा सबसे बेहतर और लाभदायक होता है.

आपको ये जानकारी कैसी लगी comment करके जरूर बताये, साथ ही कोई सवाल या सुझाव हो तो जरूर पूछे और बताये, इस जानकारी को जायदा से जायदा लोगो को share जरूर करे.

धन्यवाद……

4 Comments

  1. fullseotips123
    • IndiHow
  2. INDERJEET SINGH
    • Shaikh Muneer

Add Comment